Pandit Ramesh Dwivedi पं. रमेश भोजराज द्धिवेदी

विश्व विख्यात भविष्यवक्ता  पं. रमेश  भोजराज द्धिवेदी  लिम्का बुक आॅफ विश्व रिकार्ड्स  विजेता है। ज्योतिष  शिखर पुरूष  पं. भोजराज द्धिवेदी के एकमात्र सुपुत्र पं. रमेश  भोजराज द्धिवेदी भी पिताश्री के अनुरूप ज्योतिष  की निरन्तर सेवा में लगे हुए है।
प्रायेण हि पुत्रः पितरमनुवर्तन्ते।bheron
DSC_5148       पिता श्री पं. भोजराज  द्धिवेदी का अनुगमन अनुसरण करते हुए उन्होंने अति अल्प समय में ज्योतिष  में विशेष  ख्याति अर्जित की है।  पं. रमेश  भोजराज द्धिवेदी ज्योतिष  पर एक मासिक पत्रिका ‘‘अज्ञातदर्शन’’ का सम्पादन, लेखन करते है जो भारत के अलावा विदेशो  में काफी लोकप्रिय है।  पं. रमेश  द्धिवेदी दुनिया के सबसे प्रचलित राशिफल ‘‘डायमण्ड राशिफल’’ के लेखक हैramesh8, जो कि दुनिया की आठ अलग-अलग भाषाओं में प्रकाशित होता है, दुनिया का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला राशिफल है, इसलिए पं. रमेश द्धिवेदी को ‘’लिम्का बुक आॅफ विश्व रिकार्ड्स’’ में भी सम्मिलित किया गया है। वंश  परम्परा से आठवी पीढ़ी के युवा ज्योतिर्विद पं. रमेश द्धिवेदी  को ज्योतिष  का ज्ञान विरासत में मिला, इसके अतिरिक्त उन्होंने इस विamarद्या  का विधिवत अध्ययन जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय से किया।  संस्कृत साहित्य में स्नातकोत्तर करने के पश्चात् उन्होंने अपना अध्ययन जारी रखा।  विश्व विद्यालय स्तर पर अनेकानेक उपलब्धियां अर्जित की उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. महावीर अग्रवाल व राजस्थान विश्व विद्यालय के अधिष्ठाता व ज्योतिष  विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. विनोद शास्त्री  ने उनका एक विशेष  कार्यक्रम में अभिनंदन किया।
पं. रमेश द्विवेदी देश के कई धर्माचार्यो व धार्मिक संस्थाओं के नियमित सम्पर्क में हैं तथा ज्योतिष व मंत्र-तंत्र के गूढ़ रहस्यों पर चर्चा करते रहते है। ज्योतिष मंत्र तंत्र के उत्थान व विकास किस प्रकार से हो इसके लिए निरन्तर चिंतनशील व प्रयासरत रहते है।
   417774_552984471401557_1386745192_n           भारत की कई प्रसिद्ध हस्तियां कई राजनेता, फिल्म कलाकार किक्रेट खिलाड़ी व सेलेब्रिटीज पं. रमेश द्विवेदी के नियमित सम्पर्क में हैं व द्विवेदी जी से नियमित ज्योतिषीय मार्गदर्शन व सलाह भी लेते रहते है। udaipur
            ज्योतिष  पर ‘‘श्री चण्डमार्तण्ड पंचांग व कलैण्डर’’ का सम्पादन पिछले 13 वर्षो  से नियमित कर रहे है। पं. रमेष द्विवेदी अंतर्राष्ट्रीय  वास्तु ऐसोसिएशन  (रजि.) के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष भी है। संस्था पिछले 18 वर्षो से नियमित रूप से ज्योतिष  के उत्थान व प्रचार-प्रसार हेतु कार्यरत है।r.p
                        संस्था के तत्वाधान में अब तक 52 से अधिक राष्ट्रीय  व अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करवाए जा चुके है। ज्योतिष  के प्रचार-प्रचार व उत्थान के लिए अंतर्राष्ट्रीय वास्तु  ऐसोसिएशन  द्वारा ज्योतिष  का पत्राचार द्वारा प्रशिक्षण  करवाया जाता है। ज्योतिष , वास्तु, हस्तरेखा, अंकशास्त्र व amar1भविष्य  जानने की विभिन्न विधाओं पर इनके द्वारा पत्राचार से कोर्सेज भी करवाऐ जाते है।  प्रवेश  आदि की जानकारी अलग से पाठ्यक्रम विवरणिका प्राप्त करने हेतु आप अलग से  पत्र या दूरभाष से सम्पर्क कर सकते है।
अनेकानेक संस्थाओं, ज्योतिष सम्मेलनों व आयोजनो पर पं. रमेश द्विवेदी का सैकड़ों बार अभिनंदन व सम्मान किया जा चुका हैे। सम्मान, पुरस्कार व अलकंरणों की श्रृंखला लम्बी हैं, इसके लिए एक पुस्तक का कलेवर भी छोटा praveenपड़ेगा। भारत के उपराष्ट्रपति श्री भैरोसिंह जी शेखावत ने भी इनकी ज्योतिष विषयक सेवाओं की भूरि-भूरि प्रंशसा की। भारत के केन्द्रीय केबीनेट मंत्री श्री प्रफुल्ल पटेल ने भी एक सार्वजनिक समारोह में पं. रमेश द्विवेदी के ज्योतिष में उल्लेखनीय योगदान के लिए इनका सम्मान किया, इसके अतिरिक्त राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष श्री दीपेन्द्रसिंह शेखावत ने भी इनका अभिनंदन किया । ramcharanji
                        राजस्थान संस्कृत अकादमी व अंतर्राष्ट्रीय वास्तु  ऐसोसिएशन  द्वारा ज्योतिष  का पत्राचार द्वारा प्रशिक्षण  करवाया जाता है। ज्योतिष , वास्तु, हस्तरेखा, अंकशास्त्र व भविष्य   द्वारा  लगाए जाने वाले निःशुल्क ज्योतिष  पप्रशिक्षण  शिविरों में आप ज्योतिष  विद्या के प्रचार-प्रसार के लिए ज्योतिष  का अध्यापन भी करवाते है।
narayanअब तक लगभग 2000 से अधिक शिष्यों  को ज्योतिष  का प्रशिक्षण  दे चुके है। राजस्थान पत्रिका द्वारा आयोजित ज्योतिष  प्रशिक्षण शिविर में भी आप अधिकृत फैकल्टी के रूप में निमन्त्रित किये जाते है। मानव सेवा व पीड़ित मानवता की सेवा में योगदान के लिए अंतर्राष्ट्रीय सेवाभावी संस्था लाॅयन्स क्लब इन्टरनेशनल से जुड़े है औरlalbaba उसमें प्रान्तीय सभापति है एवं समय समय पर निःषुल्क ज्योतिषिय सलाह शिविर, व मानवता की सेवा से जुड़ी हुई गतिविधियों रक्तदान, मेडिकल कैम्प आदि में भाग लेते रहते है।
स्टार न्यूज (वर्तमान में ABP न्यूज) ने समय-समय पर पं. रमेष द्विवेदी के ज्योतिष  विषयक कार्यक्रमों का प्रसारण किया है। स्टार न्यूज ने विषेश कार्यक्रम में पं. रमेश  द्विवेदी को देश  के दस बड़े ज्योतिशीयों में शुमार किया है। ज्योतिष  विषयक अनेकानेक पुस्तकों का सृजन, लेखन व सम्पादन करने वाले पं. रमेश  द्विवेदी विलक्षण 10386753_843330409033627_1887714918098831934_nप्रतिभा के धनी है।
सहारा समय, इण्डिया न्यूज, ए.बी.पी. न्यूज आदि में लगातार नियमित कार्यक्रमों की श्रृंखला है। दैनिक भास्कर में आप नियमित स्थाई स्तम्भों की रचना का भी दायित्व निभा चुके है। राजस्थान पत्रिका व देश के  अन्य समाचार पत्रों में इनके आलेखों का प्रकाशन भी चलता रहता है।  राजस्थान के प्रतिश्ठित पुरस्कार ‘‘महाराणा मेवाड़ parvezफाउण्डेषन’’ ने वर्श 2012 में पं. रमेश द्विवेदी को ‘‘हारित राशि  सम्मान’’ से सम्मानित किया । इस पुरस्कार में उदयपुर के महाराणा श्री अरविन्द सिंह मेवाड़ ने ‘‘रजत तोरण’’ अंगवस्त्र, सम्मान-पत्र व पच्चीस हजार रूपये के नगद पुरस्कार से इन्हें 26 फरवरी 2012 को विशेष  कार्यक्रम में सम्मानित किया।
rameshइसी कड़ी  में राजस्थान सरकार ने ग्यारह हजार रूपये नगद, ताम्रपत्र, सम्मान पत्र, श्रीफल, अंगवस्त्र से इन्हें एक राजकीय कार्यक्रम में सम्मानित किया तथा ‘‘जगन्नाथ सम्राट ज्योतिष सम्मान’’  का अलंकरण इन्हें प्रदान किया। राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक  गहलोत ने एक राजकीय सम्मानr.p समारोह में इन्हे इस पुरस्कार से नवाजा गया। 15 अगस्त 2017  को स्वतंत्रता  दिवस के अवसर पर पं रमेश भोजराज द्विवेदी को राज्य सरकार  ने जिला स्तर पर सम्मानित किया राजस्थान के केबिनेट मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर ने पं रमेश द्विवेदी के योगदान की खूब प्रशंसा करते हुए कहा  की उनके साहित्य से भारतीय संस्कृति को नई पहचान मिली है
jaspinderइन सबके अतिरिक्त कई राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में अनेकानेक अलंकरण व सम्मानों से इन्हें नवाजा गया। कई राजनीतिज्ञों, खिलाड़ियों व फिल्म जगत, उधोग  जगत व प्रसिद्ध व्यक्तियों के ज्योतिषिय सलाहकार व आध्यात्मिक गुरू है। diggana
                        भविष्यवाणियों में इनकी अनेकानेक सार्वजनिक महत्त्व की भविष्यवाणियां समय की कसौटी पर खरी उतर चुकी है। कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय ज्योतिष  सम्मेलनों की आप अध्यक्षता भी कर चुके है। पं. रमेश भोजराज द्विवेदी दैनिक भास्कर जैसे प्रतिष्ठित समाचार पत्र के साथ जुड़े हैं, जिसमें समय-समय पर ज्योतिषीय लेखमालाऐं व ज्योतिषीय समाचार व्रत,त्यौहार निर्णय आदि प्रकाशित होते रहते है। पं. 002रमेश भोजराज द्विवेदी के ज्योतिष के प्रति समर्पण और योगदान को देखते हुए , सम्राट विक्रमादित्य के नौरत्न में से एक रत्न आचार्य वराहमिहिर जैसा प्रतिष्ठित सम्मान उन्हे भारत की ज्योतिषीय राजधानी उज्जैन (कायथा) में दिया गया । कायथा (उज्जैन) में मध्यप्रदेश के जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों की मौजूदगी में यह सम्मान ‘वराहमिहिर सम्मान’ पं. रमेश भोजराज द्विवेदी को सादर समर्पित किया गया।
        बिग एफएम जोधपुर, बिग मैजिक टी.वी. चैनल्स एवं कई मीडिया ग्रुपस के साथ भी पं. रमेश भोजराज द्विवेदी का ऐसोशियेशन है। बिग एफएम और बिग मैजिक पर नियमित कार्यक्रम भी प्रसारित होते है।

Comments are closed.