Shop

mangalyantra

Mangal Yantra दाम्पत्य सुख कारक व कर्ज नाशक मंगल यंत्र

₹3,500.00 ₹3,200.00


SKU: AG114. Category: . Tag: .

दाम्पत्य सुख कारक व कर्ज नाशक मंगल यंत्र
वर या वधू दोनो में से एक की कुण्ड़ली मंगली हो तो वैवाहिक सुख में काफी व्यवधान आते है। विवाह योग्य कन्या या पुत्र के विवाह में बाधा आना, विवाहित दम्पत्ति के जीवन में दीर्घकाल तक सन्तानाभाव रहना, गर्भपात होकर सन्तान हाथ न लगना, मनुष्य का ऋणी होना, कर्जग्रस्त होने के बाद, कर्ज चुकाने के आसार से निराश हो जाना, इन तीनों दुःखों को दूर करने के लिये ज्योतिष शास्त्र में मंगल व्रत का विधान है।
मंगल व्रत का नाम सुनते ही जन साधारण एक समय भोजन कर, हनुमान जी का दर्शन करके छुट्टी मना लेते है। फिर काम पूर्ण न होने पर अन्य देव को पकड़ते है, यह सब जानकारी के अभाव में होता है। शास्त्रों में ऐसा उल्लेख आया है कि मंगली जातक वर या वधू आदि त्रिकोणात्मक मूंगा युक्त मंगल विधि विधान से अभिमंत्रित कर गले में धारण कर ले, तो मंगल दोष से होने वाली परेशानीयों से उसे छुटकारा मिल सकता है, मंगली जातक को हनुमान जी की आराधना या उपासना भी करनी चाहिए।